top of page
  • Writer's pictureKishori Raman

सारे जहाँ में शोर हो गया

Updated: Sep 19, 2021




प्यार तो एक एहसास है...एक खुशबू है जो खुद व खुद चारो ओर फैल जाती है। आदमी लाख कोशिश करे अपने प्यार को छुपाने का पर वो तो छुपाये नही छुपता और सारी दुनिया को खबर हो जाती है। आज इसी पर आधारित प्रस्तुत है एक कविता जिसका शीर्षक है...


सारे जहाँ में शोर हो गया तेरी चंचल सी चितवन जादू भारी ये चिलमन कहती है एक कहानी खमोश लबोंकी थिरकन सुनी जो प्यार की शहनाई, मन आज बिभोर हो गया शर्मा के तूने जो देखा तो सारे जहाँ में शोर हो गया न वह चांदनी रात थी और न तुम पास थी तुमसे मिलनेकी मुझको फिर क्यों आश थी ? बिना चांद देखे मेरा मन, नजाने कैसे चकोर हो गया

शर्मा के तूने जो देखा तो सारे जहाँ में शोर हो गया सपना कोई सुहाना था पलको में तुझे बसाना था तेरे गेसुओं के साये में गीत कोई गुनगुनाना था। रात कर गई छेड़खानीआँख झपकी नहीकि भोर हो गया शर्मा के तूने जो देखा तो सारे जहाँ में शोर हो गया किशोरी रमण


57 views4 comments

4 Comments


Unknown member
Feb 08, 2022

very nice......

Like

sah47730
sah47730
Sep 04, 2021

शर्मो हया से भरी ये प्यार की कहानी दिल से लिखी लगती है।

कलम तो एक बहाना है-

शब्दों को तो दिल से सजाना है!

:-- मोहन"मधुर"


Like
verma.vkv
verma.vkv
Sep 04, 2021
Replying to

वाह क्या बात है,

कुछ लोग छुपे रुस्तम होते है |

Like

verma.vkv
verma.vkv
Sep 02, 2021

वाह, बहुत सुंदर रचना है ।

Like
Post: Blog2_Post
bottom of page